Pharmacy Course Details In Hindi And Collage In India

मेडिकल (medical) के क्षेत्र में फार्मेसी का अहम स्थान है. फार्मेसी का क्षेत्र जॉब के लिए बहुत ही शानदार फिल्ड हैं क्योंकि इस फिल्ड में अनेक प्रकार की जॉब मिल जाती है. फार्मेसी का क्षेत्र (filed) दवाइयों से जुड़ा हुआ है. जिसमें आपको करियर के साथ-साथ लोगों की सेवा करने का अवसर भी मिलता है. वैसे तो आजकल करियर बनाने के लिए छात्रों को बहुत सारे ऑप्शन मिल जाते हैं. मगर मेडिकल लाइन ऐसी है जहा पर हमेशा जॉब के बहुत सारे स्कोप मिल जाते हैं.

Pharmacy Course Details In Hindi And Collage In India

Pharmacy Course Details In Hindi And Collage In India

फार्मेसी में दो प्रकार के कोर्स होते है बी फार्मा और डी फार्मा. इन कोर्सेस को करने के बाद स्टूडेंट्स अपना फ्यूचर आसानी से सिक्योर कर सकते हैं. यदि आपको साइंस और लाइफ साइंस तथा दवाइयों (medicine) के प्रति दिलचस्पी है तो आप आसानी से फार्मेसी के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं

फार्मेसी (B.Pharm) करने के फायदे

जब आप 12th के बाद बी.फार्मा कर लेते हैं तो आपको उसके कई सारे फायदे हैं जो निम्न लिखित हैं |

  • B.Pharm करने के बाद आप केमिस्ट के तौर पर जॉब कर सकते हैं|
  • अगर आप खुद का मेडिकल स्टोर खोलना चाहें तो आपको उसके लिए लाइसेंस मिल सकता है |
  • फार्मासिस्ट के रूप में कॉलेज में काम कर सकते हैं |
  • सरकारी एवं गैर सरकारी विभागों के रिसर्च विभाग में कार्य कर सकते हैं |
  • B.Pharm एक स्नातक डिग्री हैं जो आपको हर जगह काम आएगी |

Admission Process in Pharmacy

Pharmacy में दाखिला लेने के लिए Student को PCM या PCB में कम से कम 50 प्रतिशत अंको के साथ उतीर्ण होना आवश्यक है | कई संस्थानों में मेरिट के आधार पर दाखिला होता है जिसमे बोर्ड एग्जाम में मिले अंको के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार होती है | इसके अलावा कई Deemed Universities और मान्यता प्राप्त प्राइवेट संस्थानों में योग्य छात्रों को entrance Test में मिले अंको के आधार पर सीट मिलती है |

D.Pharma Information in Hindi

D.Pharma जिसे Diploma in Pharmacy भी कहते है दो साल का डिप्लोमा कोर्स होता है | अगर आपको pharmacy के क्षेत्र में ही जाना है और आपके पास समय की कमी हो या फिर आर्थिक स्तिथि ठीक ना हो तो D.Pharma आपके लिए Best Option है | भारत में Pharmacist बनने के लिए यह minimum qualification होती है | वैसे B.Pharma की वैल्यू ज्यादा होती है लेकिन अगर कोई D.Pharma करने के बाद भी B.Pharma करना चाहे तो ये सम्भव हो सकता है | इसके लिए आपको B.Pharma में सीधे दुसरे साल में प्रवेश मिल जाता है जिसे Lateral entry कहते है |

Pharmacy Course Details In Hindi

 Pharmacy Related Courses

फार्मेसी करने के लिए अनेक कोर्स हैं. फार्मेसी कोर्स करने के लिए स्टूडेंट्स को साइंस विषय (subject) के साथ बारहवीं (12th) परीक्षा उत्तीर्ण (pass) करनी अनिवार्य होती है. इसके बाद स्टूडेंट्स दो साल के डी फार्मा कोर्स या चार साल के बी फार्मा कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं.

  • बैचलर ऑफ़ फार्मेसी (PHARM) + मास्टर ऑफ़ बिज़नस
  • मास्टर ऑफ़ फार्मेसी (PHARM)
  • बैचलर ऑफ़ फार्मेसी (PHARM)

 Career in the Field of Pharmacy*

फार्मेसी कोर्स करने के बाद छात्रों को इस फिल्ड में जॉब के लिए काफी सारे ऑप्शन मिल जाते हैं. जिसमें अच्छी जॉब के साथ-साथ सैलरी भी मिल जाती है.

√मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव

√क्लीनिकल रेसेअर्चेर

√मार्किट रिसर्च एनालिस्ट

√मेडिकल राइटर

√एनालिटिकल केमिस्ट

√फार्मासिस्ट

√मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव

√क्लीनिकल रेसेअर्चेर

√ऑन्कोलॉजिस्ट

√एनालिटिकल केमिस्ट

√रेगुलेटरी मेनेजर

Top 10 Pharmacy Colleges in India

इंडिया में कई ऐसे कॉलेजेस हैं जहा पर फार्मेसी से सम्बंधित कोर्सेज कराये जाते हैं. इन कोर्सेज को करने के बाद स्टूडेंट्स आसानी से अपना करियर बना सकते हैं.

1. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल

2. एजुकेशन एंड रिसर्च – (NIPER), मोहाली

3. यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, चंडीगढ़

4. इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी – (ICT), मुम्बई

5. बॉम्बे कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी – (BCP), मुम्बई

6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी – (BHU IIT), वाराणसी

7. महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ़ बरोदा – (MSU), बरोदा

8. कॉलेज ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, विशाखापट्न

9. राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी – (RTMNU), नागपुर

10. पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, पुणे
महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी – (MDU), रोहतक

Pharmacy सम्बन्धित Questions

प्रश्न1. फार्मेसी का क्षेत्र किस चीज से जुड़ा हुआ है?

उत्तर. फार्मेसी का क्षेत्र दवाइयों से जुड़ा हुआ है.

प्रश्न2. फार्मेसी से सम्बंधित कोर्स कौन-कौन से हैं?

उत्तर. फार्मेसी से सम्बंधित कोर्स बैचलर ऑफ़ फार्मेसी + मास्टर ऑफ़ बिज़नस, मास्टर ऑफ़ फार्मेसी, बैचलर ऑफ़ फार्मेसी हैं.

प्रश्न3. फार्मेसी का कोर्स करने के लिए न्यूनतम योग्यता क्या है?

उत्तर. फार्मेसी कोर्स करने के लिए स्टूडेंट्स को साइंस विषय के साथ बारहवीं (12th) परीक्षा उत्तीर्ण करनी अनिवार्य होती है.

प्रश्न4. फार्मेसी के बाद करियर की सम्भावनाये किस फिल्ड में हैं?

उत्तर. फार्मेसी के बाद मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव, क्लीनिकल रेसेअर्चेर, मार्किट रिसर्च एनालिस्ट, मेडिकल राइटर आदि में जॉब आसानी से मिल जाती है.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

आज का करेंट अफेयर्सDownload PDF
+